Balancing your periods & religious activities: Women Special

(यह पोस्ट हिंदी में पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें)

This post is dedicated to all the pretty religious ladies who go through a healthy menstrual cycle every month and are confused about what to do and what not to do during those days.

How to maintain personal hygiene & cleanliness?

Disposing Pads:

  • I would recommend using the menstrual cup because it is eco-friendly as well as cost-effective. You can read more about using it here.
  • In case you use pads, try to use cloth pads.
  • Don’t throw pads in the common dustbin. If possible, burn them. If burning is not possible, throw them separately and not with kitchen/common garbage. If animals mistakenly ate your pads, the females can have miscarriage also.

Cleanliness:

  • One of my friends suggested this idea to keep clothes to be worn during these days in a separate bag outside the cupboard so that all the other clothes in the cupboard remain untouched.
  • The undergarments(especially panties) for these days should be separate and should not be worn on the other days of the month.
  • Make sure you wash all the clothes you wore, touch, bed sheets, pillow covers used during these days after your periods.
  • Try not to sit on the Sofa, carpet during these days. Use plastic chairs, stools instead.
  • It is recommended to wash your hairs on the fourth day of periods.

Kitchen Precautions:

  • Do not cook during these days.
  • Try to not enter the kitchen and touch spices, etc.
  • If possible, keep the utensils used during these days separate.
  • Do not give food to any person with your hands.
  • Do not water plants.

What religious activities should not be performed?

  • Try not to support illogical feminists by going to temple.
  • Do not touch Jinvani/religious books, notebooks, anything related to religion.
  • Do not chant mantras, puja, path, bhakti etc. loudly.

What digital precautions you should keep?

  • Do not read PDF files of Jinvani in your smartphones, ebook readers and laptops.
  • Do not attend any online religious classes.
  • Do not keep religious wallpapers, ringtones on your mobile phone.
  • Do not open/read religious messages/images on WhatsApp, Facebook. If possible stay away from social media because feeds have religious images and quotes.

What can you do then?

  • Read novels, academic books, inspirational stories if you like reading.
  • Pursue your hobbies like painting, drawing, writing, etc.
  • Think about the topics you have read before you were on periods.
  • You can chant barah bhavna, etc. in your mind without speaking with lips.
  • Think about the characteristics of the soul which is pure every time. This is just a state of body which can never stain the soul.
  • If you feel low, meditate and think what you can do to not become female in the next births. Talk to your dear ones like mother, sister or close friends.

Still, have queries?

I am happy to help you anytime in the comments or at hey@jaindivya.com.

. . .

यह पोस्ट उन सभी सुन्दर धार्मिक महिलाओं को समर्पित है जो हर महीने एक स्वस्थ मासिक धर्म चक्र से गुजरती हैं और इस बारे में उलझन में हैं की उन दिनों के दौरान क्या करना है और क्या नहीं करना है।

व्यक्तिगत स्वच्छता और सफाई कैसे बनाए रखें?

पैड कैसे उपयोग करें:

  • मैं मासिक धर्म कप का उपयोग करने की सलाह दूँगी क्योंकि यह पर्यावरण अनुकूल है और साथ ही लागत प्रभावी है। आप इसे इस्तेमाल करने के बारे में यहाँ पढ़ सकते हैं
  • यदि आप पैड का उपयोग करते हैं, तो कपड़े के पैड का उपयोग करने का प्रयास करें।
  • सामान्य dustbin में पैड नहीं फेकना चाहिए। यदि संभव हो, तो उन्हें जला दीजिये। यदि जलना संभव नहीं है, तो उन्हें अलग से फेंक दें, रसोईघर/सामान्य कचरे के साथ नहीं। अगर जानवरों ने गलती से आपके पैड खाए, तो मादाओं में गर्भपात भी हो सकता है।

स्वच्छता:

  • मेरी एक दोस्त ने पहनने वाले कपड़े अलमारी के बाहर एक अलग बैग में रखने का सुझाव दिया ताकि अलमारी के सभी अन्य कपड़े बिना छुए रहें।
  • इन दिनों के लिए अंडरगारमेंट्स (विशेष रूप से चड्ढ़ी) अलग होना चाहिए और उन्हें महीने के अन्य दिनों में नहीं पहनना चाहिए
  • सुनिश्चित करें कि आप इन दिनों के दौरान पहने हुए/स्पर्श किये हुए कपड़े,  इस्तेमाल किए गए बिस्तर की चादरें, तकिए के कवर धोए।
  • इन दिनों सोफा, कालीन पर न बैठने की कोशिश करें। इसके बजाय प्लास्टिक कुर्सियां, स्टूल आदि का प्रयोग करें।
  • माहवारी के चौथे दिन अपने बाल धोने चाहिए।

रसोई सम्बंधित सावधानियां:

  • इन दिनों में खाना नहीं बनाना चाहिए।
  • रसोई में प्रवेश न करने और मसालों को न छूने की कोशिश करें।
  • यदि संभव हो, तो इन दिनों के बर्तनों को अलग रखें।
  • अपने हाथों से किसी भी व्यक्ति को भोजन न दें।
  • पौधों को पानी नहीं दें।

कौनसी धार्मिक गतिविधियों नहीं करनी चाहिए?

  • मंदिर आदि धार्मिक स्थलों पर न जाएँ।
  • Jinvani/धार्मिक किताबें, नोटबुक, धर्म से संबंधित कुछ भी स्पर्श नहीं करें।
  • मंत्र, पूजा, पाठ, भक्ति इत्यादि का जाप नहीं करें।

कौनसी डिजिटल सावधानी बरतनी चाहिए?

  • अपने स्मार्टफ़ोन और लैपटॉप में जिनवाणी की पीडीएफ फाइलें न पढ़ें।
  • किसी भी ऑनलाइन धार्मिक कक्षा आदि में शामिल न हों।
  • अपने मोबाइल फोन पर धार्मिक वॉलपेपर, रिंगटोन नहीं लगाएं।
  • व्हाट्सएप, फेसबुक पर धार्मिक संदेश/छवियों को नहीं खोलें/पढ़ें। यदि संभव हो तो सोशल मीडिया से दूर रहें क्योंकि फ़ीड में धार्मिक चित्र आदि आते हैं |

क्या करना चाहिए?

  • यदि आपको पढ़ना पसंद करते हैं तो उपन्यास, शैक्षिक किताबें, प्रेरणादायक कहानियां पढ़ें।
  • पेंटिंग, ड्राइंग, लेखन इत्यादि जैसे अपने शौक को पूरा करें।
  • उन वाक्यों के बारे में सोचें जिन्हें आपने जिनवाणी में पढ़ा था।
  • आप होठों से बिना बोले अपने दिमाग में बारह भावना इत्यादि का जप कर सकते हैं।
  • आत्मा के गुणों के बारे में सोचें जो हर समय शुद्ध है। यह सिर्फ शरीर की एक अवस्था है जो कभी आत्मा को अशुद्ध नहीं कर सकती है|
  • यदि आप बुरा महसूस करते हैं, तो सोचें कि आपको अगले जन्मों में स्त्री पर्याय न मिले इसके लिए आप क्या कर सकते हैं। अपनी प्रियजनों जैसे मां, बहन या करीबी दोस्तों से बात करें।

और कुछ पूछना है?

टिप्पणियों में या hey@jaindivya.com पर किसी भी समय आपकी सहायता करने में मुझे खुशी है।